**विद्यार्थियों को दे रहे अच्छे स्कूल की सुविधा, स्कालरशिप, लैपटॉप, स्कूटी
इस वर्ष 7 हजार 790 विद्यार्थी को मिली निःशुल्क स्कूटी**



सबसे पहले बच्चों की पढ़ाई की चिंता है : मुख्यमंत्री श्री चौहान
विद्यार्थियों को दे रहे अच्छे स्कूल की सुविधा, स्कालरशिप, लैपटॉप, स्कूटी
इस वर्ष 7 हजार 790 विद्यार्थी को मिली निःशुल्क स्कूटी
शहडोल को मिली नगरपालिक निगम, एयर पोर्ट, महाविद्यालय की सौगात
शहडोल से नागपुर तक रेल सेवा के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रधानमंत्री का माना आभार
जयसिंह नगर व बुढार के सीएम राईज स्कूल तथा कन्या शिक्षा परिसर जयसिंह नगर का भूमिपूजन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने शहडोल में राज्य स्तरीय स्कूटी वितरण कार्यक्रम को किया संबोधित
बुंदेलखण्ड में जल क्रांति से जनता की जिंदगी बदलेंगे
दमोह में 1600 करोड़ रूपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन, लोकार्पण किया

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज शहडोल में राज्य स्तरीय स्कूटी वितरण कार्यक्रम में शासकीय हाई स्कूल और हायर सेकेंडरी विद्यालयों में 2022-23 में प्रथम स्थान पाने वाले 7 हजार 790 विद्यार्थियों को स्कूटी खरीदने के लिए राशि प्रदान की।

प्रदेश में बढ़ती शिक्षा सुविधाओं की चर्चा करते हुए श्री चौहान ने कहा कि वे भांजे-भांजियों की पढ़ाई लिखाई और उन्हें आगे बढ़ने के सभी अवसर उपलब्ध कराने के लिए संकल्पबद्ध हैं। उन्होने कहा कि वे मध्यप्रदेश को परिवार मानकर सरकार चला रहे हैं। परिवार में सबसे पहले बच्चों की चिंता की जाती है। इसीलिए प्रदेश में बड़ी संख्या में हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी स्कूल स्थापित हुए। विश्व स्तरीय मापदंड और सुविधाओं वाले सीएम राइज स्कूलों का निर्माण हो रहा है। विद्यार्थियों को लैपटॉप और स्कूटी तक उपलब्ध कराई जा रही है।

शहडोल के पॉलीटेक्निक कॉलेज में आयोजित हुए कार्यक्रम में पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री श्री रामखिलावन पटेल, सांसद शहडोल श्रीमती हिमाद्री सिंह, क्षेत्रीय विधायकगण तथा जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

शहडोल के विकास को मिलेगी गति

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शहडोल में नगरपालिक निगम स्थापित होगा, साथ ही यहाँ शीघ्र ही एयर पोर्ट निर्मित किया जाएगा। इससे क्षेत्र में उद्योग स्थापना और निवेश को गति मिलेगी, जिससे रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। शहडोल में एक और महाविद्यालय आरंभ किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शीघ्र ही शहडोल से नागपुर की सीधी रेल सेवा आरंभ हो रही है। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री श्री मोदी और रेल मंत्री का आभार व्यक्त किया। इन कार्यों से निश्चित ही शहडोल के विकास को गति मिलेगी।

एशिया की सबसे बड़ी स्पोटर्स क्लाइम्बिंग वॉल का लोकार्पण

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने क्रीड़ा परिसर विचारपुर में 6 करोड़ 43 लाख रूपए लागत से बनी एशिया की सबसे बड़ी आईएससी प्रमाणित स्पोटर्स क्लाइम्बिंग वॉल का वर्चुअल लोकार्पण किया। इसके साथ ही 96 करोड़ 62 लाख रूपए के कार्यों का भूमि-पूजन किया तथा 6.43 करोड़ रुपए की लागत के कार्यों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रतीक स्वरूप शहडोल संभाग के छह विद्यार्थियों को स्कूटी की चाबी सौंपी तथा मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना के प्रशिक्षणार्थियों को ऑफर लेटर प्रदान किए। मुख्यमंत्री श्री चौहान का कार्यक्रम स्थल पर परम्परा तरीके से जनजातीय पगड़ी तथा विशाल पुष्पमाला पहनाकर स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने युवा अन्नदूत योजना, एसएसजी क्रेडिट लिंकेज, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन, राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन और मुख्यमंत्री कल्याणी पेंशन योजना हितग्राहियों को हितलाभ भी वितरित किए। इस अवसर पर शहडोल जिले में विद्यालयीन स्तर पर उपलब्ध कराई जा रही खेल सुविधाओं पर केंद्रित लघु फिल्म का प्रदर्शन किया गया।

विद्यार्थी बिना हेलमेट के न चलाएं स्कूटी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में पन्द्रह-सौलह साल पहले शालाओं के अभाव में प्राय: बेटियां 5वीं अथवा 8वीं के बाद पढ़ाई छोड़ देती थीं, माता पिता दूसरे गांव में बेटियों को पढ़ने के लिए नहीं भेजते थे। इस स्थिति में बेटियों को पढ़ाई जारी रखने के लिए साइकिल उपलब्ध कराने की योजना आरंभ की गई है। कोई भी बेटा-बेटी प्रतिभा, क्षमता और योग्यता होते हुए पढ़ाई से वंचित न रहे, इस उद्देश्य से हमारी सरकार ने अनेकों योजनाएं आरंभ की हैं। विद्यार्थियों में परस्पर प्रतिस्पर्धी भाव बढ़ाने के उद्देश्य से लैपटॉप और अब शाला में प्रथम आने वालों को स्कूटी प्रदान की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यार्थियों का आव्हान किया कि वाहन नियमानुसार ही चलाएं और स्कूटी चलाते समय हेलमेट पहनना अवश्य सुनिश्चित करें।

दूरदराज इलाकों के बच्चों को उपलब्ध होंगी शिक्षा की विश्व स्तरीय सुविधाएं

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विद्यार्थियों को प्रेरित करते हुए कहा कि जीवन में उपलब्धि और सफलता प्राप्त करने के लिए मेहनत जरूरी है। कोई भी विद्यार्थी पैसे के कारण उच्च शिक्षा से वंचित न रहे इस उद्देश्य से राज्य सरकार ने मेधावी विद्यार्थियों को सहायता उपलब्ध कराने के लिए विशेष व्यवस्था की है। मेडिकल, इंजीनियरिंग, प्रबंधन और विधि क्षेत्र के प्रतिष्ठित संस्थानों में प्रवेश प्राप्त करने पर विद्यार्थियों की फीस राज्य सरकार द्वारा भरवाई जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने माता-पिता से भी आव्हान किया कि वे अपने बच्चों की पढ़ाई का विशेष ध्यान रखें। राज्य सरकार द्वारा आरंभ किए जा रहे सीएम राइज स्कूलों का निर्माण 38 से 40 करोड़ रुपए तक की लागत से हो रहा है। इनमें लाइब्रेरी,खेल मैदान, लेब, स्मार्ट क्लास और स्विमिंग पूल आदि तक की व्यवस्था है। हमारा उद्देश्य है कि वंचित परिवारों और दूर दराज इलाकों में रहने वाले बच्चों के लिए शिक्षा विश्व स्तरीय सुविधाएं उलब्ध हों। पढ़ाई के साथ-साथ कौशल सीखकर निश्चित रोजगार प्राप्त करने में सुविधा के लिए मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना भी आरंभ की गई है।

बहन-बेटियों का आशीर्वाद मेरे साथ है

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश की बहन-बेटियों का आशीर्वाद , दुलार और स्नेह मेरे साथ है। इस माह की 27 तारीख को लाड़ली बहनों के साथ राखी का त्यौहार मनाया जाएगा। बहनों की कठिनाइयां दूर करने और उन्हें अपनी मर्जी व जरूरत के अनुसार पैसा खर्च करने की क्षमता प्रदान करने के उद्देश्य से लाड़ली बहना योजना आरंभ की गई है। यह उनका अधिकार है। इस योजना से बहनों की आत्म-निर्भरता और आत्म-सम्मान बढ़ेगा। लाड़ली बहना योजना के अंतर्गत दी जा रही एक हजार रुपए की राशि को क्रमबद्ध रूप से बढ़ाकर तीन हजार रुपए प्रतिमाह किया जाएगा।

Share