भा ज पा किसान मोर्चा अध्यक्ष दर्शन सिंह चौधरी और जिला राजगढ़ के जिला महामंत्री इंदरसिंह लववंशी ने 27 जुलाई को कार्यक्रम को लेकर कि प्रेस वार्ता ।

भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष  दर्शन संजय चौधरी और किसान मोर्चा जिला राजगढ़ के जिला महामंत्री  इंदरसिंह लववंशी  ने 27 जुलाई को कार्यक्रम को लेकर कि प्रेस वार्तालाप करते हुए कहा की
मध्यप्रदेश में  7045 किसान समृद्धि केद्रो किसान मोर्चा करेगा कार्यक्रम रखा गया हे
27 जुलाई को राजस्थान के सीकर से भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी जी के द्वारा संपूर्ण राष्ट्र के किसानों की सेवा के लिए सवा लाख (1,25,000) किसान समृद्धि केंद्रों को किसान भाइयों को समर्पित करेंगे। इन सभी 1,25,000 किसान समृद्धि केंद्रों पर सीकर के कार्यक्रम का प्रसारण किया जाएगा, जिसमें प्रत्येक समृध्दि केंद्रो में 100 से अधिक किसान कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। इन किसान समृद्धि केंद्रों पर किसानों को उर्वरक कीटनाशक की खरीद करने के साथ-साथ बहुत से ऐसे किसान संबंधित इक्विपमेंट मशीनरी इत्यादि भी किराए पर लेने की सुविधा दी जाएगी। किसान इन केंद्रों पर कृषि से संबंधित परामर्श के साथ मिट्टी की जांच इत्यादि की सुविधा का लाभ भी उठाया जा सकता है।  किसानों, किसानों की कंपनियों (fpo), कृषि फर्मों और बड़े किसानों या खेती के वैज्ञानिक और प्रगतिशील तरीकों का उपयोग करने वाले अन्य किसानों को पर्याप्त (एंड-टू-एंड खेती के लिए कुल आवश्यकताओं) और समय पर समाधान की सुविधा प्रदान करना इन समृद्धि केंद्रों का मूल उद्देश्य है। यह केंद्र कृषि विज्ञान केंद्रों और प्रदेश के कृषि विश्वविद्यालय के साथ सीधे तौर पर जुड़े रहेंगे । किसान को कृषि से संबंधित सभी प्रकार की जरूरतों और सलाह की उपलब्धता किसान समृद्धि केंद्रों पर मिलेगी । 
कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी  किसान सम्मान निधि की 14 वीं किस्त भी जारी करेंगे। 8.5 करोड़ किसानों को 17000 करोड़ की राशि प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) के माध्यम से प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि भेजेंगे। ज्ञात हो कि  किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत अब तक की 13 किस्तों में 2 लाख 40 हजार करोड़ की राशि किसानों को भेजी जा चुकी है ।अब तक पात्र किसानों को 13 किस्त के पैसे मिल चुके हैं।
माननीय प्रधानमंत्री जी उसी दिन यूरिया गोल्ड ‘ यानी अब तक जो यूरिया की दो प्रकार थी नैनो यूरिया और नीम कोटेड यूरिया , उसके इतर यह तीसरी यूरिया की प्रकार है जो सल्फर कोटेड यूरिया किसानों को समर्पित करेंगे । सल्फर कोटेड यूरिया खेत में डालने के बाद बहुत धीरे – धीरे खेत में डिसॉल्व (घुलता) होता है जिससे इसका 80 % तक उपयोग खेत की भूमि कर पाती है । इससे खेत में यूरिया के उपयोग की मात्रा में भी काफी कमी आएगी।

मध्यप्रदेश में भाजपा किसान मोर्चा के नेतृत्व में 7045 किसान समृद्धि केद्रो पर कार्यक्रम के प्रसारण को सुना जायेगा, जिसके लिए किसान मोर्चे के द्वारा प्रभारी, सह प्रभारी की नियुक्ति की गई है, प्रदेश सभी जिलो में प्रेस वार्ता का आयोजन भी किया जाएगा, प्रदेश के प्रत्येक किसान को इन केंद्रों का लाभ मिले इसी कार्ययोजना के साथ काम किया जा रहा है। इन कार्यक्रमों में स्थाननीय पार्टी पदाधिकारी, जनप्रतिनिधि भी सम्मिलित होकर भाजपा की केंद्र एवम् राज्य सरकारों के द्वारा किसानों के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी प्रदान करेंगे।

Share